Liv 52 Tablets Benefits In Hindi – लिव-52 टेबलेट के फायदे, उपयोग और नुकसान

liv 52 tablets benefits in hindi

Liv 52 Tablets Benefits In Hindi

नमस्कार दोस्तो, लिव-52 टेबलेट के बारे में हमारे देश में लग-भग सभी को खूब अच्छे से पता है। लेकिन फिर भी हमारे द्वारा लिखे गए आर्टिकल में हम आपको वह जानकारी देने की कौशिश करेंगे जो आजतक अपने कभी सुना नहीं। क्यों कोई सालो के अनुभव और मरीजों के समीक्षा के आधार पर हम आपलोगों को जानकारी प्रदान करते है। तो आइये साथिओं, इस लेख में Liv 52 Tablets Benefits के बारे में कुछ नया जानने का प्रयास करते है।

हिमालया लिव-52 टेबलेट – Himalaya Liv 52 Tablet

दोस्तो लिव 52 टेबलेट हिमालया कंपनी द्वारा तैयार किया गया एक आयुर्वेदिक (Herbal) प्रोडक्ट है, जिसका कोई अलग-अलग स्तर भी आपको बाजार में मिल जायेगा। जैसे की लिव 52 सिरप, लिव 52 DS सिरप, लिव 52 DS टैबलेट। इसके अलाबा छोटे बच्चे के लिए भी लिव 52 सिरप या ड्राप के रूप में भी मार्किट में उपलब्ध है। अलग-अलग प्रोडक्ट लेवल का अलग-अलग प्राइस है। खैर जो भी है वह हम आगे चलकर जानेंगे। लिव-52 टेबलेट ख़ासतौर पर लिवर को हैल्थी रखने का काम करता है। लिवर अगर आपका मजबूत है तो सही ढंग से भूख भी लगेगी और खाना ठीक से पचेगा। सच कहें तो इस मामले में चाहे लिव-52 टेबलेट हो या सिरप किसीकी भी प्रतिक्रिया बुरा नहीं है। हम बचपन से सुनके आ रहे है लिव 52 के बारे में। तब भी ये बहुत प्रचलित था और आज भी लिव ५२ के बारे में कौन नहीं जानता।

लिव 52 टेबलेट में मिलाये गए प्राकृतिक जड़ीबूटियां (Ingredients)

दोस्तो लिव-५२ टेबलेट में मजूद उन सारी इंग्रेडिएंट्स लिवर को स्वस्त रखने के अलाबा शरीर को अन्य फायदे भी पहुँचाते है। जैसे की यह औषधि इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाती है। साथ ही पाचन और किडनी के लिए भी काफी हद तक गुणकारी होता है। ऐसा भी देखा गया की कोई लोगों के चेहरे पर काला दाग-धब्बे और पिम्पल्स की समस्या है। लेकिन इसे लेने से काले दाग-धब्बे और मुँहासे भी दूर हो गए है। उन सभी गुणों को देखते हुए कहाँ जा सकता है की लिव 52 टेबलेट न केवल सिर्फ लिवर के लिए, बल्कि पूरे शरीर पर सकारात्मक प्रभाव डालता है।

लिव 52 टेबलेट के फायदे – Liv 52 Tablets Benefits In Hindi

हिमालय लिव 52 टेबलेट के फायदे : यह लिवर को स्वस्थ रखने का काम करता है।। बेस्त जीवन के चलते हम दैनिक लाइफ-स्टाइल और खान-पान पर ज्यादा ध्यान नहीं दे पाते है। जिस बजह से हमारे स्वास्थ पर सीधा असर पड़ता है। और ऐसे में अन्य स्वास्थ संमंधी समस्याओं के साथ-साथ बिशेषतौर पर लिवर का भी ख्याल रखना आबस्यक होता है। यदी आपका लिवर कमजोर है तो ठीक भूख नहीं लगेगी, खाना नहीं पचेगा, कब्ज की समस्या होने लगेगी, उलटी महसूस होगी और मुँह के छाले जैसी कोई समस्या का सामना करना पड़ सकता है। लेकिन लिव 52 टेबलेट एक ऐसी आयुर्वेदिक औषधि है जिसे नियमित रूप से लेने से उन लिवर संमंधी सारी चोटे-मोठे प्रोब्लेम्स को जड़ से मिठाया जा सकता है।

liv 52 tablets benefits in hindi

लिव 52 टेबलेट खाने से लिवर मजबूत होता है। लीवर तंदरुस्त रहने से ठीक से खाना-खाने की इच्छा होगी और खाना पचने में भी कोई दिक्कत नहीं होगी। साथ ही लिवर से जुडी कुछ बीमारियां जैसे की फैटी लिवर (ग्रेड -1), पीलिया (jaundice), हेपटोटोक्सिन यानी की यदी किसी केमिकल पदार्थ के अधिक सेबन से लिवर को नुकसान हो रहा है, तो ऐसी स्तिति में लिव-52 टेबलेट का खुराक लेना लिवर के लिए फायदेमंद होता है। इसके अलाबा लिव ५२ टेबलेट खाने से आँखों के नीचे बनी काला दाग और बाल झड़ने की समस्या भी दूर होती है।

लिव 52 टेबलेट और लिव 52 सिरप का फायदे लग-भग एक जैसे ही है। लेकिन Liv 52 Tablet का एक बिशेष फायदे येह है की आप इसे साथ में लेकर कही भी जा सकते है। अगर आपका ज्यादातर काम-काज बाहर या ट्रैवेलिंग के दौरान करना पड़ता है तो आप इस टेबलेट को अपनी साथ रख सकते है। इससे आपका खुराख छूटेगा नहीं। सुभे-शाम आराम से इस टेबलेट को आप ले पाएंगे।

लिव 52 टेबलेट कैसे खाना चाहिए ? Liv 52 Tablet Uses In Hindi

लिव 52 टेबलेट का उचित खुराख (liv 52 tablet uses) इस प्रकार है की दो गोलियां सुबह नाश्ते के बाद पानी के साथ लेनी चाहिए और दो गोलियां रात को डिनर के बाद पानी के साथ लेनी चाहिए। दोस्तो, कोई लोगों को यह जानना होता है की लिव 52 टेबलेट खाना खाने से पहले लेनी चाहिए या भोजन के बाद ? इसके लिए हम आपको बताना चाहते है की बेहतरीन रिजल्ट के लिए लिव 52 टेबलेट को हमेशा भोजन के बाद ही लेना चाहिए। क्यों की हमने कोई ऐसे मरीजों को प्रयोग करके देखा है की आफ्टर मील यह दवा बहुत अच्छा काम करता है।

लिव 52 टेबलेट का कीमत

लिव 52 टेबलेट का मार्केट प्राइस 150/- रूपये है। एक डिब्बे में आपको 100 गोलियां मिलेंगी।

लिव 52 टेबलेट और लिव 52 DS में क्या अंतर है ? (LIV 52 Tablet Vs Liv 52 DS tablet)

दोस्तो, लिव 52 DS टेबलेट लिव 52 टेबलेट के तुलना में काफी बेहतर है। लिव 52 DS टेबलेट डबल स्ट्रेंगत फॉमूला से तैयार की गई है। मतलब, लिव 52 डीएस टैबलेट में मौजूद इंग्रेडिएंट्स लिव 52 टैबलेट की तुलना में ओर बेहतर तरीके से काम करता है। इसीलिए लिव 52 DS का प्राइस भी ज्यादा है, लेकिन डोसेस लिव 52 टेबलेट की तरह एक जैसा ही है। लिव 52 DS टेबलेट का उपयोग (Liv 52 DS Tablet uses In Hindi) उन परिस्तिति में किया जा सकता है जहां लिवर ठीक से काम नहीं कर रहा है। छोटे-मोठे लिवर संमंधी बिमारिओं के अलाबा लिवर-टॉक्सिसिटी, पीलिया, लिवर-इंफेक्शन, फैटी लिवर और हेपेटाइटिस जैसी अन्य स्तितियो में भी लिव 52 DS टेबलेट मरीजों को प्रयोग किया जा सकता है।

लिव-52 टेबलेट के फायदे और नुकसान

आमतौर पर लिव 52 टेबलेट के कोई साइड इफेक्ट्स नहीं है। क्यों की येह सम्पूर्ण रूप से एक आयुर्वेदिक औषधि है। लेकिन फिर भी यदी किसी को इस दवा को लेने के बाद कोई असुबिधा महसूस हो तो इसे लेना बंद कर दे या डॉक्टर से संपर्क करे। अगर आप चाहे तो अपनी उम्र के अनुसार उचित खुराक के बारे में जानने के लिए ईमेल द्वारा हमसे संपर्क कर सकते है।

Read More..

 

Leave a Comment