Pregnancy Me Kamar Dard Kyu Hota Hai – प्रेगनेंसी में कमर दर्द कब होता है ?

Pregnancy Me Kamar Dard Kyu Hota Hai

pregnancy me kamar dard kyu hota hai (1)

प्रेगनेंसी में कमर दर्द गर्वबती महिलाओं के लिए एक बहुत ही कॉमन समस्या है, लेकिन उस वफ्थ कमर में दर्द होने के पीछे जो असली बजह होते है यह हम आपको बताना चाहते है। । गर्भावस्था के दौरान कमर में दर्द लगभग हर महिलाओं में अक्सर दिखा जाता है और यह दर्द ज्यादातर प्रेगनेंसी के अंतिम चरण में तेज हो जाता है। और ऐसे में कुछ महिलाएं काफी स्ट्रेस में आ जाती है क्यों की पैन ज्यादा होने की बजह से उठना , बैठना या शरीर की मूवमेंट्स में काफी मुस्किलो की सामना करना पड़ता है जो की यह बिलकुल स्वभाबिक है, लेकिन कुछ कुछ मामलो में दूसरा रीज़न भी हो सकता है। तो आइए प्रेगनेंसी में कमर दर्द क्यों होता है इस प्रश्न का जबाब आज हम आपको बहुत ही सरल और स्पष्ट भाषा में समझाने की कौशिश करेंगे।

प्रेगनेंसी में कमर दर्द क्यों होता है (causes of lower back pain during pregnancy)

प्रेगनेंसी के समय कमर में दर्द होने का अनेको कारण हो सकता है । लेकिन इनमे से सबसे पहला जो कारण है, येह वो है की

1. बच्चा जब गर्भाशय में धीरे धीरे बड़ा होने लगता है तब कमर की पिछले हिच्चे की मांसपेशिओं (muscles) में खिंचाब पैदा होती है और जिस बजह से लोअर बेक पैन होता होता। यह सबसे आम कारण है जो गर्भाबस्था के समय सभी महिलायो में होता है।

2. दूसरा जो कारण हो सकता है यह हॉर्मोनल बदलाब से जुड़े होते है जैसे की गर्भकालीन स्तिति में रिलैक्सिन (Relaxin) नामक हॉर्मोन बॉडी में बहुत ज्यादा मात्रा में रीलीज़ होती है, जिस बजह से रीढ़ से जुड़े जो मांसपेशिया होते है यह लूज़ हो जाती है। और मांसपेशिया ढ़ीली पढ़ जाने से कमर में दर्द होना सुरु हो जाता है ।

3. गर्भावस्था के दौरान कमर में दर्द होने का तीसरा जो कारण है यह बहुत ही महत्वपुर्ण है। हमारे भारत देश में अधिकांश महिलाएं vitamin D यानि कैल्शियम की कमी से जूझ रहे है, जो की गर्भकालीन समय में कैल्शियम की बहुत ज्यादा अबस्यकता होती है।बच्चा जब धीरे धीरे बड़ा होने लगता है तब माँ के शरीर से कैल्शियम भी अब्सॉर्ब करलेता है जिससे कैल्शियम की कमी होने लगता है और कैल्शियम की कमी हो जाने से कमर में ओर ज्यादा दर्द होने लगता है।

तो यह था दोस्तो कुछ मेडिकेटेड रीज़न जिस बजह से आम तौरपर कमर में दर्द होता है। इसके अलाबा अगर आप हमें पूछे की Pregnancy Me Kamar Dard Kyu Hota Hai तो इसका भी कारण अब हम आपको बताएँगे।

4. अधिक मोटापा, जी हाँ दोस्तो ओवर वेट भी और एक बहुत बड़ी कारण है जिससे प्रेगनेंसी के समय लोअर बेक पैन (lower back pain) की समस्या हो सकती है। इसीलिए अगर आपको मोटापे की समस्या है तो प्रेगनेंसी प्लान करने से पहले मोटापे की समस्या को दूर करना चाहिए ताकि बाद में कोई परिसानी न हो।

5. इसके अलाबा और एक कॉमन प्रॉब्लम है जो अधिकांश घोरो में देखी जाती है जब महिलाएं प्रेगनेंट होती है तब येह दिन-रात बिस्तर पर लेटे रहती है। दरसल यह होता है की उस समय अपनी घर की छोटे-मोठे काम काज करना चाहिए, इससे बॉडी की मूवमेंट अच्छी रहती है। अगर आप अपनी घर के छोटे मोठे काम-काज , टहलना या फिर हल्का एक्सरसाइज बिलकुल ही न करेंगे तो इससे दो समस्याए पैदा हो सकती है एक तो कमर दर्द और दूसरा पैर फूलना या पैरो में सूजन आना।

प्रेगनेंसी में कमर दर्द का इलाज या घरेलू उपाय – how to get relief from lower back pain during pregnancy

अब आइए जानते है की प्रेगनेंसी के दौरान अगर आपके कमर में दर्द होता है तो क्या करना चाहिए यानि की इस समस्या से कैसे बच सकते है। ध्यान रखे दोस्तो ग़र्वकालीन समय में कमर दर्द या शरीर की किसी भी हिस्से की दर्द को कम करने के लिए आप दवा नहीं ले है। इसीलिए आपको हर हाल में कौशिश करनी चाहिए की घरेलू नुस्के की इस्तेमाल करके दर्द को कम करें।

उस समय हल्का ब्यायाम या योग करना आपके लिए बहुत ही ज्यादा लाभकारी हो सकता है। लेकिन अगर आपको प्रेगनेंसी के दौरान कौनसी योगा या ब्यायाम करनी चाहिए इसके बारे में जानकारी चाहिए तो अपनी डॉक्टर से सलाह ले सकते है। इसके अलाबा आप सुभे सुभे टहल सकते है और साथ ही साथ प्राणायाम भी कर सकते है।

प्रेगनेंसी के समय कमर दर्द से बचने के लिए आपको कुछ ख़ास बातें ध्यान में रखनी चाहिए, जैसे की कुछ भारी सामान न उठाए, पुरे दिन एक ही ज्यागा में बैठे न रहे। और सबसे महत्वपूर्ण यह है की आपका खान-पान, जैसे की पहले हमने कहाँ की कैल्शियम की कमी होने से हड्डीओं में कमजोरी आती जाती है, जिससे कमर दर्द या शरीर के अन्यो भागों में भी दर्द बने रहते है। इसीसलिए आपको कैल्शियम युक्त आहार लेनी चाहिए, जैसे की काजू , अंडा, सब्जी में वेण्डी, कच्चे नारियल या फिर अपनी डॉक्टर से पुचके कैल्शियम सप्लीमेंट भी ले सकते है सकते है।

प्रेगनेंसी के दौरान अक्सर पूछे जानेवाले प्रश्न

प्रेगनेंसी में पेट कब निकलता है ?

1. आमतौर पर प्रेगनेंसी के तीसरे महीने के बाद धीरे धीरे पेट निकलने लगता है। लेकिन कभी कभी ऐसा भी होता है प्रेगनेंसी के 6 महीने के बाद पेट निकलता है।

2. प्रेगनेंसी के दौरान पेट के निचले हिस्से में दर्द क्यों होता है ?

3. प्रेगनेंसी में पेट के निचले हिस्से में दर्द होना स्वबाभिक है क्यों की बच्चा जब धीरे धीरे बड़े होने लगते है तब पेट के निचले हिस्से के माँसपेशिओ में खिंचाब पैदा होता है जिससे दर्द होता है।

4. प्रेगनेंसी में कैसे बैठना चाहिए ?

प्रेगनेंसी में बैठने के पोस्चर हमेसा बैठते समय पेट के निचले हिस्से को सीधे रखकर बैठने की कोशिश करें और पिट के बैक साइड पर तकिया या किसी सॉफ्ट चीजों के सहारे बैठे।

5.1 महीने की प्रेगनेंसी में क्या nahi खाना चाहिए ?

प्रेगनेंसी के सुरुवाती महीने से महिलाओं को खान-पान के प्रति बिशेष ध्यान रखनी चाहिए, जैसे की खट्टे फल या हाई एसिडिक फ्रूट नहीं खाना चाहिए। कच्चे पपीता ,एलोवेरा, पाइनएप्पल, तुलसी पत्ते, निम्बू और नमक भी ज्यादा नहीं खाना चाहिए।

निचे दिए पोस्ट भी आप पढ़ सकते है

Leave a Comment