Safi Peene Ke Fayde – साफी सिरप के फायदे और नुकसान

Safi Peene Ke Fayde की सम्पूर्ण जानकारी

दोस्तो इस लेख में हम आपको बताएँगे साफी सिरप के प्रक्तितिक औषधिओ गुण और इसके कुछ बेहतरीन फायदे के बारे में, जो आयुर्वेदिक उपचार के लिए सबसे अच्छा माना जाता है। साफी पीने की फायदे अनेको है। बिगड़ती लाइफस्टाइल और अनियमित दिनचर्या के कारण हमारे सरीर में ऐसी कोई बीमारियां होने लगती है। अगर आप चाहते है की सम्पूर्ण नेचुरल तरीके से उन समस्याओ को ठीक करे तो साफी सिरप आपके लिए बेहतरीन साबित हो सकता है।

दोस्तो साफी सिरप को नेचुरल ब्लड प्यूरीफियर के रूप से जाना जाता है , क्यों की इसमें जितने सारी इंग्रेडिएंट्स मजुत है उन सभी सामग्री खून को डेटॉक्स करने में मदद करती है। हमदर्द  कंपनी द्वारा बनाया गया यह साफी सिरप जिसमे कुल २८ प्रकार के हर्बल सामग्री मिलाई गई है।

साफी सिरप में पाए जाने वाली इंग्रेडिएंट्स – composition of safi syrup

साना – 160 . 45 gm, तुर्बुद (turbud) – 25. 45 mg, गुलाब के फूल 24. 77 ,बुरादा शीशम 13 . 40 ,संदल सुर्ख 11 . 36 gm, गिलो 14 . 09 mg ,हॉरर 22 . 04 gm, नरकाचूर 11 . 36 gm, चिरैता 17 . 38 gm, कसूंदी 13 . 40 gm, मुंडी 15 . 45 gm, नीलकण्ठी 16 . 13 mg, शाहतरा 22 . 72 gm, कचनल 15 . 45 mg, नीम 19 . 45 mg, बर्ग तुलसी 13 . 40 mg, ज़राबाद 11 . 36 mg, डारहाल्ड 9 . 43 mg, चोबचीनी 11 . 36 mg, पोस्ट कीकर 42 . 84 mg, संखाहोली 14 . 09 mg, सरफोका 18 . 06 mg, उष्बा मग़रबी 5 . 68 mg, ब्राह्मी 9 . 09 mg, चाकसू 9 . 09 mg
बेख कसनी 9 . 09 mg, उन्नाब 11 . 36 mg, रेवन्द चीनी 22 . 72 mg, कांड सफेद 5 ml, शोरा देशी 227 . 27 mg, मिलः फिरंगी 1 . 250 g

दोस्तो इनमेसे ५ ऐसी इंग्रेडिएंट्स है जो इस साफी सिरप को ओर भी खास बनाती है जिनके बारे में अभी हम डिसकस करेंगे।

1. सेना (Sana) – यह एक तरह का बहुत ही खास औषदीओ पौधा है जिसके सेबन से कब्ज की परिशानी आसानी से दूर हो जाती है। इसके अलाबा इस पौधे का सेबन से त्वचा संमंधि अनेको बिमारिओ से लड़ने में प्रोटेक्शन मिलती है।

2. रेबंद चीनी (Revand Chini) – रेबंद चीनी एक पौधे की जड़ है जिसे औषदि की तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। रेबंद चीनी ब्लड को सुद्ध (detoxify) करती है। इसके इस्तेमाल से लिवर की कार्यो समता बेहतर होती है और हमारे सरीर की सेल्स को रिपेयर करने में मदद करती है।

3. नीम पत्ते (Neem) – नीम के पत्ते, जिसके बारे में सायद कोई बयक्ति अनजान हो। दोस्तो, नीम के पत्तियो के औषधिओ फायदे के बारे में लग-भग हर कोई जानते है। त्वचा में होनेवाली खुजली से लेकर सभी बिमारिओ को दूर करने में नीम की पत्तियां बहुत कारगर होती हैं। इसके अलाबा यह ब्लड को डेटॉक्स (detox) करती है और बालों के लिए भी अच्छी होती है।

4. चिरायता (Chiraita) – चिरायता, दोस्तो इसके बारे में भी जरूर आपने सुना होगा। चिरायता एक औषधिओ जड़ीबूटी है जिसका सेबन से पाचन संबंधी सभी बिमारिओ से निजात मिलती है। और यह हमारे ब्लड को सुद्ध करने के साथ साथ स्किन कंडीशन को बेहतर बनाती है।

5. तुलसी (Tulsi) – तुलसी एक कॉमन हर्बल औषधिओ जड़ीबूटीओ में से एक है जिसके बारे में आप सभी जानते होंगे। तुलसी के पत्ते आम तौरपर सर्दी -खासी, बुकार और सिरदर्द के लिए रामबाण इलाज मानी जाती है। इसके अलाबा भी हमारी सरीर के ब्लड सर्कुलेशन को अच्छी रखती है और त्वचा को स्वस्थ रखती है।

Safi peene ke fayde

साफी सिरप के फायदे (Safi Syrup Benefits)

  •  Safi Peene Ke Fayde यह है की स्किन को हैल्थी बनाती है। जिन लोगों का स्किन ख़राब हो चूका है उनलोगो के लिए साफी का सेबन बेनेफिशियल हो सकता है। साफी पीने से त्वचा पर ग्लो आता है और त्वचा से जुडी सारी परिसानी दूर हो जाती है।
  • साफी सिरप पीने से पाचन अच्छी रहती है यानी पेट से जुडी समस्याएं जैसे की खाने का मन न होना, बदहजमी और कब्ज आदि से राहत मिलजाती है।
  •  साफी पीने से ब्लड सर्कुलेशन अच्छी रहती है। ब्लड डेटॉक्स होती है जिससे चेहरे पर मुँहासे, काले दाग -धब्बे, रिंकल्स, फाइन लाइन्स आदि समस्याएं दूर होती है।
  • साफी सिरप का सेबन हमारे बालों को चमकदार बनाने के लिए फायदेमंद मानी जाती है। अगर आपके बाल झरने की समस्याएं है या फिर आपकी बालों की क्वालिटी ख़राब हो गई है तो ऐसे में आप साफी सिरप का सेबन कर सकते है।

साफी सिरप का सेवन कैसे करना चाहिएSafi Syrup Uses In Hindi

साफी सिरप रोजाना दो बार खाना खाने के एक घंटे बाद 10 ml करके एक गिलास हल्के गर्म पानी के साथ मिलकर पीनी चाहिए।  आप सुबह के समय कुछ हल्का नाश्ता करके इसी तरह एक गिलास हलके गर्म पानी के साथ ले सकते है, और रात को डिनर करने के एक घंटे बाद आप इसे ले सकते है। ध्यान रखिए इस बात का की भलेही यह आयुर्वेदिक दवा क्यों न हो, कभी भी इसे ज्यादा मात्रा या अनियमित तरीके से न पीये।

साफी सिरप पीने का क्या नुकसान है – safi syrup side effects

दोस्तो वैसे तो साफी सिरप का कोई गंभीर साइड इफेक्ट्स तो नहीं है। लेकिन फिर भी इसे गलद तरीके से या ज्यादा मात्रा में पीने से कुछ समस्याएं हो सकता है। अगर आप साफी सिरप को बहुत ज्यादा क्वान्टिटी में लेते है तो आपके पेट में एसिडिटी की प्रॉब्लम हो सकती है या कभी कभी उलटी भी हो सकती है, क्यों की साफी स्वाद में थोड़ा कड़वा होता है। इसके अलाबा अगर आप साफी सिरप को बिलकुल खली पेट पीते है, तो ऐसे में भी आपको उलटी या एसिडिटी का सामना करना पढ़ सकता है। दोस्तो साफी सिरप को लगातार बहुत ज्यादा दिन तक नहीं लेनी चाहिए।

साफी सिरप कब पीना चाहिए (safi syrup use)

दोस्तो साफी सिरप को सुबह नास्ते के एक घंटे बाद ही लेना चाहिए। और साम को डिनर के एक घंटे बाद आप इसे ले सकते है। जैसे की हमने कहा 10 ml (2 tsp) एक गिलास गुनगुने पानी के साथ मिलकर पी सकते है।

साफी सिरप पीने का मेरा खुद का अनुभब – My own experience of using Safi syrup

दोस्तो साफी सिरप पीने से हमने जो खुद एक्सपीरियंस प्राप्त की है वह अब हमको बताते है। साफी पीने की फायदे जो हमें मिला है, यह खास तौरपर स्किन को बेहतर बनाती है यानी की अगर आपकी स्किन ड्राई हो गई है या आपकी त्वचा बहुत ही चिपचिपा है तो इसे पीने से स्किन स्वभाबिक हो जाती है। इसके अलाबा अगर आपके चहेरे पे पिम्पल्स, दाग – धब्बे की निशान है तो ऐसे में साफी पीने से फेस क्लीन हो जाती है। बिशेष रूप से यह सिरप खून को साफ़ करती है।
पेट से जुडी समस्याओ के लिए आपको थोड़ा बहुत आराम मिल सकता है। कोई लोग पूछते है की साफी पीने से बजन कम होता है क्या ? लेकिन सच कहें तो इसके बारे में हमें कोई जानकारी नहीं है, क्यों की हमें कोई बदलाब महसूस नहीं हुआ। हो सकता है यह सिरप बालों के लिए भी फायदेमंद हो , लेकिन नियमित रूप से इसे पीने के बाबजूद भी हमें बालो पर कुछ खास फर्क नजर नहीं आया।
दोस्तो मेरे कहने का मतलब यह नहीं है की यह दवा बुरी है। साफी सिरप एक बहुत ही अच्छी औषधि है, हो सकता है यह आप के लिए सही से काम करे।

निचे दिए उन पोस्ट को भी आप पढ़ सकते है।

Leave a Comment