saridon tablet uses in hindi : जानिए सेरिडोन टेबलेट का उपयोग, साइड इफेक्ट्स और साबधानी

saridon tablet uses in hindi

Saridon Tablet Uses In Hindi की जानकारी

नममस्कार दोस्तो, आज की इस लेख में हम एक बहुत ही एक कॉमन दवा सेरिडोन के बारे में बताने जा रहे है। हमें लगता है की आज के दौर में ऐसा कोई ब्यक्ति नहीं होंगे जिन्होने सेरिडोन का नाम न सुना हो,और आप भी जरूर सुना होगा। लेकिन दिक्कत ये है कि आपको इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है जैसे की सेरिडोन टैबलेट के उपयोग, सेरिडोन टैबलेट composition, सेरिडोन टैबलेट price, सेरिडोन टैबलेट के साइड इफेक्ट इत्यादि। अगर ऐसा है तो आप एकदम सही जगह पर आये है। तो आइये Saridon tablet की जानकारी के साथ आगे बढ़ने से पहले इसके कुछ साधारण चीजों के बारे में जानलेते है।

Saridon tablet क्या है ?

दोस्तो सेरिडोन टेबलेट NSAIDS (non steroid anti-inflammatory drug) के कैटेगरी में आती है जिसे सामयिक रूप से दर्द को कम करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। हर एक स्ट्रिप में (10) आती है। सेरिडोन टेबलेट की कंपनी का नाम पीरामल इंटरप्राइजेज लिमिटेड, महाराष्ट्र, इंडिया। आम सिरदर्द के लिए हमारे देश के युबा-बुजुर्ग सभी इसे यूज़ करते है।

सेरिडोन टैबलेट composition in hindi

सेरिडोन टैबलेट को प्रोपीफेनज़ोन , पेरासिटामोल और कैफीन इन तीन सामग्रियों के संयोजन से तैयार किया गया है।
प्रोपीफेनज़ोन 150 mg
पेरासिटामोल 250 mg
कैफीन 50 mg

आइये जानते है इन तीनो सामग्रियों का काम क्या होता है।

प्रोपीफेनज़ोन  -प्रोपीफेनज़ोन एक नॉन-नेक्रोटिक एनाल्जेसिक दवा है जो नर्वस सिस्टम के लिए काम करती है। खास तौरपर दर्द, बुखार जैसी स्तितिओ में डॉक्टर द्वारा इसे निर्धारित किया जाता है।

पेरासिटामोल  – पेरासिटामोल एक एनाल्जेसिक एंटी पायरेटिक ड्रग है। येह दवा भी बदन दर्द और बुखार जैसी परिस्थिओं में इस्तेमाल किया जाता है।

कैफीन – कैफीन ब्रेन के नर्वस सिस्टम को एक्टिवेट करता है। 50 mg कैफीन का सेबन दिमाग को सक्रिय करने के लिए काफी होता है। प्राकृतिक रूप से आप कैफीन को कॉफ़ी बीन्स, ग्रीन टी, कोको आदि जैसी सामग्रीओ से प्राप्त कर सकते है।

सेरिडोन का उपयोग कभ करना चाहिए ? (saridon tablet uses in hindi)

जैसे ही हमें हल्का सा सिरदर्द महसूस होता है तो सबसे पहले हमारे दिमाग में सेरीडॉन का ख्याल आता है। और वही हम सबसे बड़ी गलती करते है की बिना सोचे-समझे जब भी मन चाहे सेरिडोन टेबलेट को ले लेते है। हम मानते है की सिरदर्द कभी कभी हमें परेशान करके रख देता है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं की आप इसे हर समय लेते रहे। अब, अगर आप सोच रहे है की – तो फिर सेरिडोन को कभ लिया जाए ?

तो इसके लिए आपको थोड़ा डिटेल्स में जानना पड़ेगा। देखिये दोस्तो, सिरदर्द को जितना सामान्य आप समझते है उतना सामान्य नहीं है, क्यों की सिरदर्द होने के पीछे कोई कारण हो सकते है। सिरदर्द का सबसे आम कारण :-

  • डिप्रेशन
  • चिंता
  • गैस, एसिडिटी
  • ब्लड प्रेशर (कम या ज्यादा)
  • आँखों की समस्या
  • डेंटल प्रॉब्लम
  • उनहेल्थी डाइट
  • साइनसाइटिस और
  • माइग्रेन

अब अगर उनमे से किसी भी कारणों से आपका सिरदर्द हो रहा है तो ऐसे में किसी पैन किलर (saridon tablet) लेने की बजाय जिस बजह से आपका सिर दर्द हो रहा है उसका इलाज करना आबस्यक होता है। दोस्तो ध्यान रखे, लगातार सेरिडोन टेबलेट का उपयोग एक गलद आदत बन सकता है।
सेरिडोन टेबलेट को कभी-कभार लेना उचित हो सकता है। मानलीजिए आपको किसी कामकाजों के दबाव में या फिर ऐसे ही किसी चोटे-मोठे कारणों से बिच-बिच में सिरदर्द होता है तो ऐसी स्तिति में आप सेरिडोन टेबलेट का सेबन कर सकते है।

saridon tablet uses in hindi

सेरिडोन टैबलेट साइड-इफेक्ट्स – Saridon tablet side effects in hindi

सेरिडोन टैबलेट का इस्तेमाल करने से पहले इसके साइड इफ़ेक्ट के बारे में जान लेना बहुत ही आबस्यक है। क्यों की सिरदर्द के अशली कारण जाने बिना लगातार इसके सेबन से आपको गंभीर नुक़्सानो का सामना करना पढ़ सकता है। सबसे पहले तो आपको लीवर की समस्या हो सकती है। क्यों की इसमें कम्पोजीशन के तौर पर पेरासिटामोल 250mg मजूद है और लम्बी समय से पेरासिटामोल को लेना लिवर के लिए नुकसान दायक होता है। यह जानकारी प्रत्येक दर्द-नाशक दवाओं के पैक में दी जाती है, चाहे तो आप पढ़ भी सकते है। इसके अलाबा :-

  • पेट दर्द
  • स्किन में रशेस
  • हार्ट पल्पिटेशन बढ़ जाना
  • भोग की कमी
  • नींद की कमी
  • दस्त

ध्यान रखे Saridon एक (एनाल्जेसिक) दर्द निवारक दवा है इसीलिए रोजाना इसे न ले। यदि आपका सिरदर्द तीन दिन से अधिक समय तक बना रहता है तो इस प्रॉब्लम को लेकर डॉक्टर के जरूर जाना चाहिए।

Read more

 

Leave a Comment